होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/आठमुखी रुद्राक्ष

आठ मुखी रुद्राक्ष

आठ मुखी रुद्राक्ष को भगवान गणेश जी का स्वरूप माना जाता है। इसको धारण करने से गणेश भगवान की कृपा बनी रहती है, जिससे लेखन-कला, ऋद्धि-सिद्धि आदि की प्राप्ति होती है तथा दुर्घटनाओं एवं शत्रुओं से रक्षा होती है, प्रेत बाधा का डर नहीं रहता | यह साहस तथा शक्ति प्रदान करता है | इसको धारण करके कोर्ट-कचहरी के मामलों में असफलता का मुंह नहीं देखना पड़ता तथा दैविक, दैहिक तथा भौतिक कष्टों का अंत होता है | अष्टमुखी रुद्राक्ष धारण करने से अन्न, धन तथा स्वर्ण की वृद्धि होती है| इसे पहनने से मन एकाग्र रहता है भटकाव से मुक्ति मिलती है| यह व्यापार में सफलता सट्टे, जुए तथा आकस्मिक धनप्राप्ति में सहायक होता है| आठ मुखी रुद्राक्ष फेफड़ों की बीमारी, पैरों के दर्द, चर्म-रोग, मोतियाबिंद, श्वास रोग आदि को नियंत्रित करता है| प्रोस्ट्रेट एवं पिताश्य की बिमारी के इलाज में आठ मुखी रुद्राक्ष उपयोगी होता है| अष्ट मुखी रुद्राक्ष को 'ॐ गं गणपतये नम:' मंत्र का जप करते हुए धारण करना चाहिए|