होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/बारहमुखी रुद्राक्ष

बारह मुखी रुद्राक्ष

बारह मुखी रुद्राक्ष में द्वादश आदित्य और भगवान विष्णु की शक्ति समाहित है। इसको ’आदित्यरुद्राक्ष’ नाम से जाना जाता है। इसको धारण करने वाला मनुष्य, बलवान, तेजस्वी और आकर्षण प्रभाव से युक्त रहता है। शासन करने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को बारह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करने चाहिए.इससे उसे सफलता मिलती है। यह रुद्राक्ष दरिद्रता को नष्ट करता है। द्वादश मुखी रुद्राक्ष का उपयोग करने से हृदय रोग, फेफड़ों के रोग, त्वचा रोग तथा आंत संबंधी रोग दूर होते हैं। बारह मुखी रुद्राक्ष को गले में पहनकर - 'ऊँ ह्री श्री घ्रणि सूर्य आदित्य श्रीँ ह्रीं ऊँ ' इस मंत्र का जाप प्रतिदिन करने से सूर्य नारायण प्रसन्न हो जाते हैं और रोगों का नाश कर देते हैं । यह काम-धन्धे की प्राप्ति में भी सहायक होता है । निराश हुए रोगियों के लिए बारह मुखी रुद्राक्ष वरदान स्वरूप है। इस रुद्राक्ष को 'ॐ क्रों क्षों रों नमः' का जाप कर के धारण करना चाहिए।