होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/चौदहमुखी रुद्राक्ष

चौदह मुखी रुद्राक्ष

चौदह मुखी रुद्राक्ष भगवान हनुमान का स्वरूप है। इसे सिर पर धारण करने से व्यक्ति परमपद को पाता है। चौदह मुखी रुद्राक्ष में भगवान हनुमान का निवास होने के कारण कोई भी बुरी बाधा, भूत, पिशाच व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुँचा पाती, व्यक्ति निर्भय होकर रहता है. चौदह मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से शक्ति सामर्थ्य एवं उत्साह का वर्धन होता है और संकट समय संरक्षण प्राप्त होता है। सांसारिक सुख और आध्यात्मिक क्षेत्र में सफलता, शांति, उन्नति और मुक्ति (मोक्ष) के इच्छुक मनुष्य को चौदह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए। चौदह मुखी रुद्राक्ष परम दिव्य ज्ञान प्रदान करने वाला होता है । इस रुद्राक्ष को धारण करने से शनि व मंगल के अशुभ प्रभावों से मुक्ति मिलती है तथा शक्ति -सामर्थ्य एवं उत्साह का वर्धन करता है और संकट समय संरक्षण प्राप्त होता है । चौदह मुखी रुद्राक्ष दुर्घटना ,चिंता से मुक्त करके सुरक्षा व समृद्धि प्रदान करता है तथा यह मुख तथा अंशीय पक्षाघात की चिकित्सा के लिए अत्यंन्त हितकारक है। चौदह मुखी रुद्राक्ष को 'ॐ नमः शिवाय' का जाप मंत्र जपते हुए धारण करें ।