होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/एकमुखी रुद्राक्ष

एक मुखी रुद्राक्ष

एकमुखी रुद्राक्ष को जहां साक्षात शिव माना जाता है। भगवान शिव कल्याण करने वाले देवता हैं इसलिए उनकी आँख से प्रथम आंसू गिरते ही एक मुखी रुद्राक्ष उत्पन्न हुए इसलिए एक मुखी रुद्राक्ष को सबसे महत्वपूर्ण और कल्याणकारी रुद्राक्ष माना गया है| एकमुखी रुद्राक्ष का आकार ओंकार होता है। इसमें साक्षात भगवान शिव का वास होता है। मान्यता है कि एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से भगवान शिव की शक्तियां प्राप्त होती है। यह एक दुर्लभ रुद्राक्ष है जो किस्मत वालों को ही मिलता है। एक मुखी दो प्रकार के दाने इस धरती पर पाए गए हैं | एक गोल आकार में है और दूसरा काजू के आकार में है लेकिन जो इसमें नेपाल का गोल दाना है उसीको असली एक मुखी और कल्याणकारी रुद्राक्ष माना गया है| एकमुखी रुद्राख सर्वसिद्धि प्रदाता रुद्राक्ष कहा गया है। यह सात्त्विक शक्ति में वृद्धि करने वाला, मोक्ष प्रदाता रुद्राक्ष है। जिसके घर में यह रुद्राक्ष होता है वहां लक्ष्मी का स्थाई वास हो जाता है तथा उसका घर धन-धान्य, वैभव, प्रतिष्ठा और दैवीय कृपा से भर जाता है। एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र 'ॐ ह्रीं नमः' है| इस रुद्राक्ष को धारण करने के पश्चात् नित्य प्रति 'ॐ नमः शिवाय' की पाँच माला जाप करने से इसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है |