होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/ग्यारहमुखी रुद्राक्ष

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष को भगवान हनुमान जी का प्रतीक माना गया है। यह धारक को सही निर्णय लेने की क्षमता देता है । यह बल और बुद्धि प्रदान करता है तथा शरीर को बलिष्ट व् निरोगी बनाता है । यह ध्यान व् साधना में भी बहुत प्रभावी है । विदेश में स्थापित होने के इच्छुक व्यक्तियों के लिए इस रुद्राक्ष का धारण लाभकारी है । इस रुद्राक्ष के धारणकर्ता को अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता है । इसे धारण करने से ज्ञान एवं भक्ति की प्राप्ति होती है। जिनके जीवन में सदा संघर्ष बना रहता हो, अधैर्य के कारण गलत निर्णय ले लेते हों, दिमाग में हमेशा परेशानी बनी रहती हो, जिसके कारण अपने को दुःखी तथा अपमानित महसूस करते हों या जिन्हें अक्सर किन्हीं कारणों से अपमान झेलना पड़ता हो उन्हें ग्यारह मुखी रुद्राक्ष अवश्य ही धारण करना चाहिए | पति की सुरक्षा, उसकी दीर्घायु एवं उन्नति तथा सौभाग्य प्राप्ति में यह रुद्राक्ष अत्यंत शुभ है | ग्यारह मुखी रुद्राक्ष अस्थमा एवं सांस से संबंधित बीमारियों को दूर करने में, शरीर को बलिष्ट व निरोगी बनाने में, मस्तिष्क सम्बन्धी विकारों को दूर करने में, संक्रामक रोगों के नाश के लिए तथा शरीर को बलिष्ट व निरोगी बनाने में बहुत प्रभावी है| एकादश मुखी रुद्राक्ष को 'ॐ ह्रीं हम नमः' का जाप कर के धारण करना चाहिए|