होम/मंत्र-यंत्र संग्रह/संतान गोपाल यंत्र

संतान गोपाल यंत्र

जिन लोगों को संतान होने में बाधाएं आ रही हों अथवा मनोवांछित संतान की इच्छा हो, उन्हें अपने घर में संतान गोपाल यंत्र को स्थापित करके संतान गोपाल मंत्र की साधना करनी चाहिए। अगर आप संतान गोपाल यंत्र की पूजा करते हैं तो आप के विवाहित जीवन के इस पक्ष पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव दूर हो सकते हैं। इस यंत्र की पूजा आप के सपने को सच करने में आप की मदद करती है, जीवन में सुख व उल्लास लेकर आती है। संतान गोपाल यंत्र को गुरुपुष्य नक्षत्र में पूजन एवं प्रतिष्ठा करने के पश्चात् संतान गोपाल स्त्रोत्र का पाठ करने से शीघ्र ही गृह में अच्छे गुणों से युक्त संतान की उत्पत्ति होती है तथा माता पिता की सेवा में ऐसी संतानें हमेशा तत्पर रहती हैं। संतान गोपाल यंत्र को गोशाला में प्रतिष्ठित करके गोपालकृष्ण का मंत्र का जप श्रद्धापूर्वक करने से वध्या को भी शीघ्र ही पुत्ररत्न उत्पन्न होता है तथा सभी गुणों से सम्पन्न होता है।

मन्त्र --ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते,
देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ।


इस मंत्र की 55 माला या यथाशक्ति जप के एक माह में चमत्कारिक फल मिलते हैं।